मंगलवार, 12 अगस्त 2008

मनीष मोहन गोरे - एक परिचय

जन्म
15 जुलाई 1981, देवरिया, उत्तर प्रदेश।


शिक्षा
एम.एस-सी. वनस्पति विज्ञान, बी.एड., पत्रकारिता एवं जनसंचार में स्नातकोत्तर डिप्लोमा।

लेखन कार्य
विगत एक दशक से लोक विज्ञान लेखन में सक्रिय। देश की प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में 250 से अधिक लेख, निबंध, विज्ञान कथाएं प्रकाशित एवं अंग्रेजी, बंगला आदि भाषाओं में अनुदित तथा प्रतिष्ठित संदर्भ ग्रन्थों में संग्रहीत। अनेक विज्ञान वार्ताएं आकाशवाणी से प्रसारित।

पुस्तकें
"विज्ञान कथा का सफर" एवं "325 साल का आदमी"

पुरस्कार/सम्मान
राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी संचार परिषद, नई दिल्ली, भारतीय विज्ञान कथा लेखक समिति, फैजाबाद, उत्तर प्रदेश तथा आइसेक्ट, भोपाल द्वारा सम्मानित।

सम्प्रति
विज्ञान प्रसार, नई दिल्ली में वैज्ञानिक अधिकारी के पद पर कार्यरत।

सम्पर्क सूत्
विज्ञान प्रसार, ए-50, इंस्टीटयूशनल एरिया, सेक्टर-62, नोएडा-201307, उत्तर प्रदेश, भारत

ईमेल
mmgore@vigyanprasar.gov.in

4 टिप्‍पणियां:

zeashan zaidi ने कहा…

Blog Banane Par Badhai.

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

Blog ki duniya men aapka swagat hai.

DHAROHAR ने कहा…

Manish Ji, apki agli post ka intejar hai.

श्रीश प्रखर ने कहा…

कुछ लिखिए भी....